शुक्रवार, 25 सितंबर 2009

तेरा प्यार

तेरा प्यार बहुत कुछ था
मेरे लिये
पर सब कुछ नहीं,
और भी बहुत कुछ है
दर्द है, तन्हाई है,
सूनापन है
और अन्धेरा भी,
बेशक चले जाओ तुम
पर तुम्हारी याद है
इतना सब कुछ है
दुनिया में
मेरे लिये

7 टिप्‍पणियां:

  1. bahut hi badiya. pyar ke dard ko shabdon ki mala main bahut hi umda tareeke se piroya hai. badhai.

    उत्तर देंहटाएं
  2. कहा जाता है यादे नेमत होती है.
    नेमते सम्भाल कर रखी जाती है.
    बहुत सुन्दर रचना

    उत्तर देंहटाएं
  3. बेशक चले जाओ तुम
    पर तुम्हारी याद है
    इतना सब कुछ है
    दुनिया में
    मेरे लिये
    bahot khoob.

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत ही उम्दा व दिल से लिखी गयी लाजवाब रचना। बहुत-बहुत बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  5. chale to jaate bahut pahle,
    beshak ham teri duniya se,
    par daaman bheega hai tera,
    aur hain mere nain bheege se...

    उत्तर देंहटाएं